‘आत्मनिर्भर योजना’ अस्थाई रोजगार का झुनझुना – अखिलेश यादव

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योग आदित्यानाथ ने प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के लिए यूपी आत्मनिर्भर योजना की शुरुआत की है। प्रधानमंत्री न वर्चुअल माध्यम से इसकी शुरूवात की।सरकार का दावा है कि इससे सवा करोड़ लोगों को रोजगार मिलेगा।

वहीं विपक्ष ने सरकार पर हमला बोलते हुए इस दावे को खोखला बताया है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर यूपी सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा , ‘मनरेगा में जनता को नाममात्र के अस्थायी रोज़गार का झुनझुना देने की जगह उप्र के मुख्यमंत्री ये बताएं कि तथाकथित ‘इंवेस्टर मीट्स’ और ‘डिफ़ेंस एक्सपो’ के बाद हुए कितने करार सच में बैंकों के सहयोग से ज़मीन पर उतरे हैं व उनसे कितनों को सच्चा रोज़गार मिला हैं।’

तो दूसरी तरफ योगी सरकार की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि संकट के वक्त जो साहस दिखाता है, उसे ही सफलता मिलती है। आज जब दुनिया में कोरोना का संकट है, उसमें यूपी ने साहस दिखाया है उसकी तारीफ हो रही है। योगी सरकार का शानदार काम आने वाली पीढ़ियां याद करेंगी।

मालूम हो कि कोरोना महामारी के कारण बहुत से लोगों ने अपने रोजगार खो दिए वहीं अर्थवयवस्था भी पूरी तरीके से सुस्त पड़ गई।देश के सबसे बड़े इस रोजगार कार्यक्रम में तीन प्रकार के रोजगार कार्यक्रम को शामिल किया गया है।पहला भारत सरकार का आत्मनिर्भर भारत रोजगार कार्यक्रम है।दूसरा एमएसएमई सेक्टर में जिन लोगों को नौकरी मिली है और सरकार ने जिन औद्योगिक संगठनों के साथ एमओयू किया है, ये लोग भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। जबकि तीसरा कार्यक्रम स्वतः रोजगार का है।

रितेश।

Share via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *