भारत अवसर की भूमि के रूप में उभरा है, अमेरिकी कंपनियां भारत में करें निवेश: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अमेरिकी कंपनियों को भारत के हेल्थकेयर, इंफ्रास्ट्रक्चर, डिफेंस, एनर्जी, कृषि और इंश्योरेंस सेक्टर में निवेश के लिए आमंत्रित करते हुए कहा कि देश निवेश के लिए खुलापन, अवसर और विकल्प प्रदान करता है।

मोदी ने यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल को संबोधित करते हुए कहा, “आज भारत के प्रति वैश्विक आशावाद है। ऐसा इसलिए है क्योंकि भारत खुलेपन, अवसरों और विकल्पों का सही संयोजन प्रस्तुत करता है। भारत लोगों और शासन में खुलेपन का जश्न मनाता है।”

उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस महामारी ने आर्थिक लचीलापन का महत्व दिखाया है, जिसे मजबूत घरेलू आर्थिक क्षमताओं द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।

उन्होंने कहा, “इसका मतलब विनिर्माण के लिए घरेलू क्षमता में सुधार, वित्तीय प्रणाली की स्थिति को ठिक करना और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का विविधीकरण करना है।”

उन्होंने कहा, “भारत अवसरों की भूमि के रूप में उभर रहा है। मैं आपको टेक क्षेत्र का एक उदाहरण देता हूं। हाल ही में, भारत में एक दिलचस्प रिपोर्ट सामने आई। इसने पहली बार कहा, शहरी इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की तुलना में ग्रामीण इंटरनेट उपयोगकर्ता भी अधिक हैं।

यह कहते हुए कि खुले बाजारों का मतलब अधिक अवसर हैं, मोदी ने कहा कि पिछले छह वर्षों के दौरान सरकार ने भारतीय अर्थव्यवस्था को अधिक खुला और सुधार उन्मुख बनाने के लिए कई प्रयास किए हैं।

उन्होंने कई और महत्वपूर्ण बातों को अपने संबोधन में कहा, आइये जानते हैं।

  • हमें गरीबों और कमजोरों को मूल स्थान पर रखना चाहिए। जीने में आसानी उतनी ही महत्वपूर्ण है जितना व्यवसाय में आसानी।
  • हमें वैश्विक आघात के खिलाफ लचीलापन पर ध्यान देना चाहिए। यह महसूस हमें एक महामारी ने कराया है।
  • हम सभी इस बात से सहमत हैं कि विश्व को बेहतर भविष्य की आवश्यकता है, जिसे हमें सामूहिक रूप से आकार देना होगा। मेरा दृढ़ विश्वास है कि भविष्य के लिए हमारा दृष्टिकोण मुख्य रूप से मानव-केंद्रित होना चाहिए।

-भारत एक आत्मानिभर राष्ट्र के स्पष्ट आह्वान के माध्यम से एक समृद्ध और लचीला दुनिया में योगदान दे रहा है। उसके लिए, हमें आपकी साझेदारी का इंतजार है।

  • पीएम मोदी ने कहा खुला दिमाग खुले बाजार का निर्माण करता है।
  • पिछले छह वर्षों के दौरान, हमने अपनी अर्थव्यवस्था को अधिक खुला और सुधार उन्मुख बनाने के लिए कई प्रयास किए हैं। सुधारों ने ‘प्रतिस्पर्धा’ को बढ़ाया है, ‘पारदर्शिता’ को बढ़ाया है, ‘डिजिटलीकरण’ का विस्तार किया है, अधिक से अधिक ‘नवाचार’ और अधिक ‘नीतिगत स्थिरता’ को सुनिश्चित किया है।

पीएम मोदी ने ये भी कहा कि भारत अवसरों की भूमि के रूप में उभर रहा है।

उन्होंने आगे कहा कि भारत आपको हमारे किसानों की मेहनत में निवेश करने के लिए आमंत्रित करता है। पीएम मोदी कहते हैं कि खेती के क्षेत्र में निवेश के अवसर हैं। कृषि में निवेश करने का सबसे अच्छा समय अब ​है। उन्होंने यह भी बताया कि भारत और अमेरिका ने कृषि क्षेत्र में एक मजबूत साझेदारी का निर्माण किया है। उन्होंने फिर कहा कि स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में विस्तार का यह सबसे अच्छा समय है।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने नागरिक उड्डयन क्षेत्र में निवेश करने का न्योता भी दिया और कहा कि सिविल एविएशन महान संभावित विकास का एक और क्षेत्र है। अगले 8 वर्षों के भीतर हवाई यात्रियों की संख्या दोगुने से अधिक होने की उम्मीद है। शीर्ष निजी भारतीय एयरलाइंस की योजना आने वाले दशक में एक हजार से अधिक नए विमान शामिल करने की है।

उन्होंने इन्वेस्टर्स को रक्षा और अंतरिक्ष में निवेश करने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा ‘हम रक्षा क्षेत्र में निवेश के लिए एफडीआई(FDI) कैप को 74% तक बढ़ा रहे हैं। भारत ने रक्षा उपकरणों और प्लेटफार्मों के उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए 2 रक्षा गलियारों की स्थापना की है।’

पीएम मोदी भारत के ऊर्जा क्षेत्र के अवसरों के बारे में बात करते हुए कहा, ‘भारत आपको ऊर्जा में निवेश करने के लिए आमंत्रित करता है। जैसे-जैसे भारत गैस आधारित अर्थव्यवस्था में विकसित होगा, अमेरिकी कंपनियों के लिए निवेश के बड़े अवसर होंगे। स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्र में भी बड़े अवसर हैं।’

उन्होंने भारत और अमेरिका को प्राकृतिक साझेदार भी बताया और यह भी कहा कि भारत कई और अवसर प्रदान करता है। भारत के उदय का मतलब है एक राष्ट्र के साथ व्यापार के अवसरों में वृद्धि, जिस पर आप भरोसा कर सकते हैं।

गुलशन।

Share via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *