भारत ने रचा इतिहास, चंद्रयान-2 हुआ लॉन्च


भारत ने आज अंतरिक्ष की दुनिया में इतिहास बनाने की ओर पहला कदम रख दिया।सोमवार दोपहर 2.43 बजे चंद्रयान की यात्रा शुरू हो गयी।इससे पहले 15 जुलाई चंद्रयान के सफर की तारीख़ मुक़र्रर की गयी थी।इस मिशन में एक हफ़्ते की देरी GSLV-MkIII रॉकेट के इंजन में लीक होने के कारण हुई थी।अब यही रॉकेट चंद्रयान को अतरिक्ष में लेकर जाएगा।

भारत का चाँद पर यह दूसरा मिशन है।आज जब अपोलो 11 चाँद मिशन की 50वीं वर्षगांठ पर
भारत चाँद पर तब अपना मिशन भेज रहा है।भारत का चंद्रयान-2 चाँद के अपरिचित दक्षिणी ध्रुव पर सितंबर के पहले हफ़्ते में लैंड करेगा।यह करीब 48 दिनों बाद, 6 सितम्बर तक पहुँचेगा।

वैज्ञानिकों का कहना है कि चाँद का यह इलाक़ा काफ़ी जटिल है।उनके मुताबिक यहां पानी और जीवाश्म मिल सकते हैं।इसरो का कहना है कि अगर यह मिशन सफल रहा तो चंद्रमा के बारे में समझ और बढ़ेगी।यह भारत के नज़रिये से एक बहुत बड़ी खोज होगी, जो भारत के साथ पूरी मानवता के पक्ष में होगा।

चंद्रियान-2 के सफल परीक्षण से भारत दुनिया का चौथा ऐसा देश बन गया जिसने स्व निर्मित यह अभियान किया।भारत ने इससे पहले चंद्रयान-1 2008 में लॉन्च किया था।यह मिशन भी चाँद पर पानी की खोज में निकला था।

आरती।

Share via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *