“विराट कोहली के साथ खेलना भाग्य की बात है” जानिए ऐसा क्यों कहा न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने ?

न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन खुद को भाग्यशाली मानते हैं क्योंकि की उनको विराट के साथ क्रिकेट खेलने का अवसर मिला। दरअसल स्टार स्पोर्ट्स के एक कार्यक्रम जिसका नाम है ‘ क्रिकेट कनेक्टेड’ में विलियम्सन ने बातचीत के दौरान कहा कि” हाँ हम भाग्यशाली हैं जो हमें एक दूसरे के ख़िलाफ़ खेलने का मौका मिला है। केन ने आगे कहा कि युवावस्था में ही विराट से मिलना और फिर उसकी प्रगति और क्रिकेट यात्रा का अनुसरण करना शानदार रहा है’।

न्यूज़ीलैंड के कप्तान ने आगे कहा कि ” यह दिलचस्प है कि हम लंबे समय से एक दूसरे के ख़िलाफ़ खेल रहे हैं। लेकिन कुछ साल से ही हमने खेल पर अपने विचार साझा किए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि खेल और मैदानी व्यवहार में थोड़ा भिन्न होने के बाबजूद भी हमारे विचार एक जैसे हैं।”

आपको बता दें कि विलियम्सन और कोहली दोनों ही मलेशिया में 2008 में खेले गए आईसीसी अंडर- 19 विश्व कप का हिस्सा थे। इसी प्रतियोगिता में विराट की अगुवाई वाली टीम ने न्यूज़ीलैंड को सेमीफाइनल में हराया था। इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने भारत को 50 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 205 रनों का टारगेट दिया था। जिसके जवाब में भारत ने 41.3 ओवर में 7 विकेट में 191 रन बनाए लिए थे। बारिश के कारण मैच को रोक दिया गया था। उसके बाद भारत को डकवर्थ लूइस नियम के हिसाब से 3 विकेट से जीत दे दी गई थी।

गौरतलब है कि इस मैच में केन विलियमसन ने 37 रन बनाए थे। वहीं विराट कोहली ने 43 रन बनाए थे। इस प्रतियोगिता में रविंद्र जडेजा, ट्रेंट बोल्ट, टीम साऊदी भी थे।

उसके बाद भारत का फाइनल में सामना साउथ अफ्रीका से हुआ। जिसे भारत ने 12 रन से डकवर्थ लूइस नियम से हर दिया। इस जीत के बाद भारत दूसरी बार अंडर-19 विश्वकप का विजेता बना।

नरेंद्र।

Share via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *