सुशांत सिंह केस की जांच करने गए आईपीएस अधिकारी को बीएमसी ने जबरदस्ती किया क्‍वारंटाइन।

बॉलीवुड दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस में हर दिन एक नया मोड़ आ ही जाता है। अब इसमें राजनीति भी होने लगी है। इसी केस को लेकर दो राज्यों की सरकारें भी अब आमने सामने हैं। बता दें कि अब इस केस की जांच दो राज्य की पुलिस कर रही है। मामले की जांच कर रही पटना पुलिस को मुंबई पुलिस के असहयोग के साथ अब पूरी प्रशासनिक व्‍यवस्‍था के विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है।

विदित हो कि मुंबई में जांच कर रही पटना पुलिस की टीम को लीड करने गए पटना के सीटी एसपी आइपीएस अधिकारी विनय तिवारी को वहां 14 दिनों के लिए क्‍वारंटाइन कर दिया गया है। इसे लेकर बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कानूनी जांच में ऐसी बाधा उत्‍पन्‍न करना ठीक बात नहीं है।

यह साफ नजर आ रहा है कि मुंबई में असहयोग झेल रही पटना पुलिस की टीम। बता दें कि पटना की टीम को मुम्बई पुलिस द्वारा गाड़ी भी मुहैय्या नहीं करवाया गया था। इधर
पटना और बिहार में इस असहयोग को लेकर लोग सड़क पर उतर आए हैं।

गौरतलब है कि बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मुम्बई स्थित अपने बांद्रा वाले फ्लैट में मृत पाए गए थे।
मुम्बई पुलिस इस मामले की जांच कर रही थी। और इस घटना को सुसाइड माना गया था। लेकिन सुशांत के परिवार वाले मुम्बई पुलिस के जांच से खुश नहीं थे। तब सुशांत के पिता केके सिंह ने बेटे की फ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर पैसे के लिए दोस्ती करना, ब्‍लैकमेल, प्रताड़ना व सुसाइड के लिए उकसाने जैसे कई गंभीर आरोप लगाए और पटना में एफआइआर दर्ज करा दी।

आपको बता दें कि इसी एफआइआर के बिना पर पटना पुलिस मुम्बई में इस मामलेकी जांच कर रही है। लेकिन वहां उन्हें मुंबई पुलिस व प्रशासन के विरोध व असहयोग का सामना करना पड़ रहा है।

पटना पुलिस की जांच को राजनीति से अलग बताते हुए मुख्‍यमंत्री नीतीश ने कहा कि मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच करने गए पटना सिटी के एसपी विनय तिवारी को बीएमसी द्वारा क्वारंटाइन किए जाने की जानकारी मिली है। जो कुछ हुआ है, वो ठीक नही है। यह राजनीतिक नहीं, कानूनी मामला है। बिहार पुलिस अपनी कानूनी जिम्मेदारी निभा रही है और निभाएगी। इस मामले में बिहार के डीजीपी महाराष्‍ट्र के डीजीपी से बात करेंगे।

जानकारी के लिए बता दें कि बिहार के डीजीपी गुप्तेशवर पांडेय ने कहा कि वे इस संबंध में महाराषट्र के डीजीपी से बात करेंगे। उन्होंने ये भी कहा कि जो हो रहा है पूरा देश देख रहा है।

उधर इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा है कि बीएमसी पागल हो गई है।

अब यह मांग की जा रही है कि आईपीएस विनय तिवारी को क्‍वारंटाइन मुक्त किया जाए और वे इस मामले की जांच आगे बढ़ा सकें।

गुलशन।

Share via

1 thought on “सुशांत सिंह केस की जांच करने गए आईपीएस अधिकारी को बीएमसी ने जबरदस्ती किया क्‍वारंटाइन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *