sanjiv

हैवान पति को पत्नी ने दूसरी औरत के साथ रंगे हाथों पकड़ा ,दहेज के लिए करता था अपनी पत्नी को प्रताड़ित

जयशंकर प्रसाद ने लिखा है:-नारी तुम केवल श्रद्धा हो,विश्वास रजत नग पगतल मेंपीयूष स्रोत सी…